Wednesday, 9 October 2019

UP कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद आदिति सिंह के बारे में अजय कुमार लल्लू ने कही ये बात

कांग्रेस पार्टी ने यूपी में अपना नया अध्यक्ष चुन लिया है. अध्यक्ष बनने के बाद अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) ने रायबरेली सदर की विधायक आदिति सिंह (Aditi Singh MLA Raebareli) पर बड़ा बयान दिया है.
प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit : FB- AjayLalluINC और AditiSinghINC )

लखनऊ:
कांग्रेस पार्टी ने यूपी में अपना नया अध्यक्ष चुन लिया है. अध्यक्ष बनने के बाद अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) ने रायबरेली सदर की विधायक आदिति सिंह (Aditi Singh MLA Raebareli) पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि अनुशासनहीनता को लेकर कांग्रेस पार्टी (Congress party) किसी भी स्तर पर समझौता नहीं करेगी. विधायक आदिति सिंह (Aditi Singh MLA) को अनुशासनहीनता के चलते जो नोटिस दिया गया है उसका जवाब बुधवार तक उन्हें हर हाल में देना होगा. लल्लू ने कहा कि आदिति सिंह के मामले का पटाक्षेप नहीं हुआ है.
उन्हें अनुशासनहीनता को लेकर भेजे गए नोटिस का जवाब दो कार्य दिवस में देना होगा. बुधवार तक पार्टी आदिति सिंह के जवाब का इंतजार करेगी और उसके बाद जरूरी कार्रवाई के लिए स्वतंत्र होगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अनुशासन का पालन करने वाली पार्टी है. जिसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा समेत सभी छोटे-बड़े नेता अनुशासन में रहते हैं. ऐसे में किसी को भी पार्टी लाइन से हटकर काम करने की इजाजत नहीं है.
आदिति नहीं हैं स्टार प्रचारक
मीडिया रिपोर्ट थी कि आदिति सिंह को उपचुनाव में कांग्रेस ने स्टार प्रचारक बनाया है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि आदिति सिंह को स्टार प्रचारक नहीं बनाया गया है. ऐसी रिपोर्ट्स सिर्फ भ्रम फैला रही हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी चुनाव में स्टार प्रचारकों का नाम 15-20 दिन पहले तय होता है.
जबकि आदिति सिंह को अनुशासनहीनता के लिए पांच दिन पहले ही नोटिस दिया गया है. ऐसे में दोनों बातों को जोड़ा नहीं जा सकता. लल्लू ने आगे बताया कि आदिति सिंह को नोटिस उनके घर जाकर भी दिया गया था इसके साथ ही उन्हें व्हाट्सएप से भी इसकी सूचना दी गई थी जिसे उन्होंने चेक भी किया था.
विशेष सत्र में शामिल हुई थीं आदिति
आपको बता दें कि महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर उत्तर प्रदेश राज्य विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित किया गया था. जिसका तमाम विपक्षी दलों ने बहिष्कार किया था. लेकिन रायबरेली से कांग्रेस की MLA आदिति सिंह ने विशेष सत्र में हिस्सा लिया था. उन्होंने तर्क दिया था कि वह एक पढ़ी लिखी जनप्रतिनिधि हैं और विकास के मुद्दे पर आयोजित सत्र में भाग लेना उनका नैतिक दायित्व है. हालांकि उनकी बातों से कांग्रेस पार्टी संतुष्ट नहीं हुई और उसने उन्हें कारण बताओ नोटिस भेजा है.
संदर्भ पढ़ें

No comments:

Post a Comment