ब्लैक लिस्ट होते ही भड़क गया पाकिस्तान, मोदी के लिए बोला...


Google Image
कश्मीर पर भारत को घेरने की साजिश रच रहे पाकिस्तान के लिए बहुत बुरी खबर आ गई। पाकिस्तान को आतंक पर प्रभावी लगाम न लगाने की वजह से पड़ोसी मुल्क को बड़ा झटका लग गया है। पाकिस्तान को टेरर फंडिंग पर नजर रखने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था फाइनेंशियल एक्शन टाक्स फोर्स की क्षेत्रीय इकाई एशिया पैसिफिक ग्रुप यानि एपीजी ने ब्लैक लिस्ट कर दिया है। ब्लैक लिस्ट होते ही पाकिस्तान भड़क उठा है। इमरान सरकार के मंत्री ने ट्विटर पर मोदी के लिए बड़ा बयान दे दिया है।

Google Image

ऑस्ट्रेलिया में चली बैठक में लिया गया फैसला

पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट करने की कार्रवाई ऑस्ट्रेलिया में हुई है। यहां पर एपीजी की दो दिनी बैठ चली जिसमें पाकिस्तान में चल रही आतंकी गतिविधियों की फंडिंग पर विस्तार से से चर्चा की गई। पाकिस्तान संस्था के बनाए गए 11 में 10 मानकों में फेल हो गया और संस्था ने पाक को ब्लैक लिस्ट करने का फैसला कर लिया। ब्लैक लिस्ट होने की वजह से पाकिस्तान को अब और आर्थिक संकट झेलना होगा।

Google Image

जानें भारत के लिए क्या बोला पाकिस्तान

एपीजी की ओर से ब्लैक लिस्ट होते ही पाकिस्तान भड़क उठा है। पाक सरकार के मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने ट्विटर पर भारत के खिलाफ भड़ास निकाली है। पाक मंत्री ब्लैक लिस्ट होने पर बोले कि एएफपी कोई एफएटीए नहीं है, ये किसी भी देश को ब्लैक लिस्ट नहीं कर सकते हैं। इसके बाद फवाद ने भारत पर भड़ास निकालते हुए कहा कि अगर चरमपंथियों को लाने के लिए किसी देश को ब्लैक लिस्ट किया जाए तो वो भारत है। मोदी के लिए इशारों में मंत्री ने कहा कि भले ही पाकिस्तान समस्याओं से जूझ रहा है लेकिन किसी भी चरमपंथी को हमारे देश ने नहीं चुना है।
दोस्तो आपको क्या लगता है पाकिस्तान को आतंक पर लगाम लगामी चाहिए या नहीं, कमेंट में बताएं और न्यूज शेयर करें. हर अपडेट के लिए आप मुझे फॉलो जरूर करें। धन्यवाद।।
(न्यूज सोर्स- jagran.com, twitter.com)

Post a Comment

0 Comments