Sunday, 13 October 2019

मामल्लपुरम बीच पर पीएम मोदी के एक हाथ में कूड़ा था, लेकिन दूसरे हाथ में क्या था?


पीएम मोदी 12 अक्टूबर को चेन्नई से लगभग 57 किलोमीटर दूर महाबलीपुरम में थे. यहां चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात हुई. उससे पहले सुबह-सुबह पीएम मोदी का एक वीडियो सामने आया, जिसमें वो कूड़ा उठा रहे थे.  खुद ट्वीट कर बताया भी कि वो मामल्लपुरम के बीच पर कूड़ा कचरा उठा रहे थे. पीएम ने लोगों से अपील की वे ये सुनिश्चित करें कि पब्लिक एरिया साफ सुथरा हो. साथ ही ये भी भी ध्यान रखें कि हम हमेशा चुस्त दुरुस्त रहें.
पीएम मोदी के इस वीडियो को बहुतों ने देखा. वीडियो और तस्वीरें देखने के बाद लोगों का ध्यान इस बात पर गया कि पीएम मोदी एक हाथ से कूड़ा कचरा उठा रहे थे. उनके दूसरे हाथ में कुछ था. आखिर वो क्या था. पीएम मोदी से कई लोगों ने पूछा. कि आपके हाथ में क्या था? पीएम मोदी ने इसका जवाब दिया. उन्होंने ट्वीट किया,
आप में से कई लोग पूछ रहे हैं कि जब मैं समुद्र तट पर घूम रहा था तब मेरे हाथ में क्या था? यह एक एक्यूप्रेशर रोलर है जिसका मैं अक्सर उपयोग करता हूं.यह बड़े काम का है. 
प्लॉगिंग में झुकना पड़ता है, हाथ नीचे करना पड़ता है. इस मूवमेंट की वजह से ज्यादा कैलोरी बर्न होती है. साथ ही पर्यावरण भी साफ रहता है. और उसी समय में सफाई भी हो जाती है. लेकिन प्लॉगिंग के साथ ही पीएम मोदी ने एक्यूप्रेशर रोलर का भी इस्तेमाल किया.  इसके जरिए वो लोगों को संदेश देना चाहते थे कि साफ सफाई के साथ ही अपनी सेहत का भी ध्यान रखा जा सकता है और यह बहुत आसान है.
ऐक्युप्रेशर का सिद्धांत कहता है कि शरीर का हर अंग हथेली और तलवे के किसी खास पॉइंट्स से जुड़ा होता है. अगर इन पॉइंट्स को उर्जा दी जाए तो कई बीमारियों में राहत मिलती है. जब आप दोनों हाथों के बीच या पैरों के नीचे रखकर इस ऐक्युप्रेशर रोलर का इस्तेमाल करते हैं तो प्रेशर पॉइंट्स ऐक्टिव होते हैं और शरीर के अलग-अलग अंगों तक ऊर्जा पहुंचती है. एक्यूप्रेशर थेरेपी ब्लड सर्कुलेशन को तेज करने में मदद करती है.
शी जिनपिंग से मिलने महाबलिपुरम पहुंचे पीएम मोदी ने की मामाल्लापुरम समुद्र के किनारे पर कूड़े की सफाई
संदर्भ पढ़ें

No comments:

Post a Comment